सोशल मीडिया पर ज्यादा वक़्त बिताना आपको पड़ सकता है भारी।

सोशल मीडिया पर ज्यादा वक़्त बिताना आपको पड़ सकता है भारी।
khabar khalifa

हम सभी जानते है कि सोशल मीडिया हमारे लिए जितना लाभदायक है उतना ही हानिकारक भी। ये प्लेटफॉर्म केवल इसलिए हैं ताकि हम अपनी बात को और अपने अंदर छुपे हुनर को देश में ही नहीं बल्कि विदेश तक पंहुचा सके। इसलिए नहीं कि हम इसको माध्यम बनाकर किसी को नुकसान पहुँचा सके। दुनिया में ऐसे कई लोग हैं जो इसका गलत इस्तेमाल कर रहे हैं। कई बार फेसबुक पर अजनबियों से दोस्ती कर धोखा खाने के मामले सामने आए हैं। चैटिंग से शुरू हुई दोस्ती का सफर छेड़खानी, दुष्कर्म, यौन शोषण व शादी के नाम पर झांसे पर खत्म होने वाले मामले जनवरी व फरवरी में 27 शिकायतें वन स्टाप / आशा ज्योति केंद्र व 181 हेल्पलाइन पर दर्ज़ की गई है।चौंकाने वाली तो यह है कि इसमें धोखा देने वाले 26 लड़के लखनऊ के हैं। हाल ही में एक घटना लखनऊ में हुई है इसमें आरोपी सहारनपुर का है और पीड़िता सुल्तानपुर की है।

अजनबी के झाँसी में आकर युवती ने छोड़ा घर,फिर हुआ ऐसा।

रायबरेली की रहने वाली 21 वर्षीय युवती से एक नाबालिक लड़के ने दोस्ती की और कई दिनों तक दोनों चैटिंग करते रहे। अचानक एक दिन युवती अपना घर छोड़कर लखनऊ आ गई। जानकारी मिलने के बाद लड़के के पिता के हाथ-पांव फूल गए क्योंकि उन्हें गिरफ्तारी का डर सताने लगा। वहीं दूसरी ओर युवती के परिवारीजनों से सूचना मिलने के बाद रायबरेली पुलिस ने लड़के के मामा को थाने पर बैठा लिया। इस बीच लड़के का पिता युवती को लेकर वन स्टाप सेंटर पहुंचे और सच्चाई बताकर गुहार लगाई। वन स्टॉप सेंटर की सक्रियता से युवती अपने घर पहुंचाई गई।

पति ,बच्चों को छोड़कर,मिलने आई पत्नी ,नहीं आया प्रेमी।

सोशल मीडिया पर पंजाब निवासी महिला की दोस्ती लखनवी युवक से हुई। चैटिंग के दौरान दोनों को प्यार हो गया। विश्वास में आकर एक दिन महिला ने तय कर लिया कि वह लखनऊ जाएगी। वह पंजाब से निकली और सीधे चारबाग स्टेशन पहुंची। घर पर बता कर आई थी कि वह अपने फेसबुक प्यार से मिलने जा रही है। घर पर वह अपने पति व बच्चों को छोड़ आई थी, पर स्टेशन पर उसे कोई नहीं मिला। इसके बाद पीड़िता ने वन स्टॉप सेंटर पर शिकायत की।

मोबाइल पर ज्यादा वक्त बिताना दे रहा अपराधों को बढ़ावा।

वन स्टॉप सेंटर/आशा ज्योति केंद्र व 181 हेल्पलाइन प्रभारी अर्चना सिंह कहती हैं कि ऐसे अपराधों बड़ा कारण मोबाइल पर ज्यादा वक्त बिताना, खाली वक्त में अजनबियों से चैटिंग करना इसको आदत बनाना कितना नुकसानदायक है वह आपके सामने है। उन्होने अगर कहा कि चिंता की बात यह है कि सोशल मीडिया पर दोस्ती के नाम पर छेड़खानी, दुष्कर्म और यौन शोषण करने के मामले बढ़ रहे हैं जिसपर रोकथाम और निगरानी रखने के लिए एक साइबर सेल का टोल फ्री नंबर भी होना चाहिए।

टेक्नोलॉजी से पकड़े जाएंगे आरोपी।

एसपी, एसटीएफ, प्रो. त्रिवेणी सिंह ने बताया कि सोशल मीडिया की लगातार निगरानी की जा रही है ,आरोपी ज्यादा देर तक हमारी नजरों से बच नहीं पाएंगे। चाहे प्रॉक्सी आईपी का इस्तेमाल करें या वीपीएन तकनीक का इस्तेमाल करें। हमारे पास वे सारी टेक्नोलॉजी है, जो आप तक पहुंचा ही देगी। पकड़े जाने के बाद अपराध जिस तरह का है, उस तरह की धाराएं लगेंगी और सजा भी जरूर मिलेगी।

khabar khalifa

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *