Kejriwaal क्यों बन सकते है दूसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री

Kejriwaal क्यों बन सकते है दूसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री
khabar khalifa

Delhi :केजरीवाल(Kejriwaal) ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में अपने कामों पर जमकर बल्लेबाजी की और चुनावी मैदान में लोगों के बीच उन्हीं मुद्दों को लेकर गए जिन पर शुरू से ही वो बात करते रहे. यही कारण है कि एग्जिट पोल्स में आम आदमी पार्टी को पूर्ण बहुमत मिलता दिख रहा है.

राष्ट्रीय राजधानी में विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार को मतदान समाप्त हो गया. निर्वाचन आयोग के आंकड़े के अनुसार 57.07 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है. हालांकि, अंतिम आंकड़े आने अभी बाकी हैं, लिहाजा मतदान प्रतिशत बढ़ सकता है. इस बार के विधानसभा चुनाव में मतदान प्रतिशत कम रहा है. मतदान की रफ्तार भी सुस्त रही है.

मतदान के बाद आए एग्जिट पोल्स में आम आदमी पार्टी को भारी बहुमत मिलता दिख रहा है. ऐसे में सवाल उठता है कि अरविंद केजरीवाल(Kejriwaal) के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी के वो कौन से मुद्दे रहे जिन पर लोगों ने विश्वास किया और झाड़ू के निशान पर बटन दबाया है.

इंडिया टुडे और एक्सिस माय ​इंडिया के एग्जिट पोल सर्वे के दौरान लोगों ने उन मुद्दों के बारे में बताया जिसके ऊपर केजरीवाल(Kejriwaal) के पक्ष में वोट पड़े.

केजरीवाल (Kejriwaal)ने इस चुनाव में दिल्ली सरकार के मोहल्ला क्लिनिक के मुद्दे पर जमकर बैटिंग की. उन्होंने हर गली, चौक-चौराहे पर अपने मोहल्ला क्लिनिक को केंद्र की आयुष्मान हेल्थ कार्ड से बेहतर बताया.

दिल्ली विधानसभा चुनाव में 37 फीसदी लोगों ने विकास पर, 17 फीसदी लोगों ने महंगाई पर, 14 फीसदी लोगों ने बेरोजगारी, 6 फीसदी लोगों ने राष्ट्रीय सुरक्षा को ध्यान में रखकर वोट डाले.

200 यूनिट फ्री बिजली, रोज 700 लीटर फ्री पानी के काम ने लोगों को आम आदमी पार्टी पर भरोसा बढ़ाने का काम किया.

दिल्ली की सरकारी बसों में महिलाओं के लिए फ्री यात्रा की सुविधा ने भी दिल्ली की आधी जनता को केजरीवाल(Kejriwaal) के झाड़ू पर बटन दबाने को मजबूर किया.

दिल्ली के झुग्गियों में रहने वाले लोगों और मजदूर वर्ग ने केजरीवाल को जमकर समर्थन दिया. वहीं, टैक्सी और रिक्शा चालकों ने भी आम आदमी पार्टी के पक्ष में वोटिंग की.

पंजाबी, एससी, मुस्लिम और ओबीसी वर्ग से आने वाली जनता ने केजरीवाल के जनवादी कामों को सही मानते हुए वोटिंग की, यही कारण है कि एग्जिट पोल में आम आदमी पार्टी 60 प्लस दिख रही है.

एग्जिट पोल में 54 फीसदी लोगों ने अरविंद केजरीवाल(Kejriwaal) को दिल्ली के मुख्यमंत्री के रूप में पहली पसंद बताया. यहां तक की कई सीटों पर जनता आम आदमी पार्टी के विधायक से नाराज होते हुए भी केजरीवाल के नाम पर उनके समर्थन में खड़ी नजर आई.

11 जिलों में लोगों ने 50 प्रतिशत से ज्यादा मत डाले वहीं उत्तर पूर्व दिल्ली में सबसे ज्यादा 62.75 प्रतिशत मतदाज दर्ज किया गया. विधानसभा क्षेत्र मटियामहल में जहां शाम छह बजे तक सबसे ज्यादा 68.35 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया, वहीं दिल्ली कैंट और नई दिल्ली में क्रमश: सबसे कम 39.52 और 42 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया.

इंडिया टुडे-एक्सिस माय इंडिया ने दिल्ली की सभी 70 विधानसभाओं में लोगों से बातचीत की. इस दौरान सैंपल साइज 14,011 हजार था. इसमें 66 प्रतिशत पुरुषों और 34 प्रतिशत महिलाओं से बातचीत की गई. जिन लोगों से पोल के दौरान बातचीत की गई, उनमें 16 प्रतिशत लोगों की उम्र 18-25 साल के बीच में थी. वहीं 29 प्रतिशत लोग 26-35 की आयु के बीच थी. 36 प्रतिशत लोग 36-50 साल की उम्र के थे. वहीं 51-60 साल की आयु के लोग 12 प्रतिशत और 61 साल से ऊपर के लोगों की आयु 7 प्रतिशत थी.

khabar khalifa
administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *