सड़क दुर्घटनाओं से संबंधित आंकड़े फीड करने में यह ऐप करेगा मदद, 15 मार्च से होगी शुरुआत।

सड़क दुर्घटनाओं से संबंधित आंकड़े फीड करने में यह ऐप करेगा मदद, 15 मार्च से होगी शुरुआत।
khabar khalifa

डिजिटल दुनिया में हर काम आसानी से एक जगह बैठकर किया जा सकता है। एक देश से दूसरे देश तक अपनी पहुँच बनाना आसान हो गया है। अब इसी कड़ी में सरकार ट्रैफिक पुलिस को सहूलियत के तौर पर एक ऐप उपलब्ध कराने जा रही है। इस ऐप के जरिए सड़क दुर्घटनाओं से संबंधित सभी जानकारियां पर फीड की जा सकेंगी। यह प्रक्रिया 15 मार्च से पूरे प्रदेश में शुरू कर दी जाएगी। इस प्रक्रिया के द्वारा सड़क दुर्घटनाओं से संबंधित आंकड़े जुटाने और उनका विश्लेषण कर सुधारों के उपाय खोजने में मदद मिलेगी।

आईआरएडी ऐप एंड्रॉयड प्लेट फॉर्म पर उपलब्ध।

एकीकृत सड़क दुर्घटना डाटाबेस’ परियोजना के अंतर्गत आईआईटी चेन्नई और एनआईसी के सहयोग से एक ऐप तैयार किया गया है। यह पहल केंद्रीय सड़क परिवहन एवं हाइवे मंत्रालय के द्वारा शुरू की गई है। आपको बता दें कि पहले चरण में यह परियोजना यूपी के अलावा महाराष्ट्र, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, राजस्थान व तमिलनाडु में लागू की जा रही है। यह ऐप एंड्रॉयड प्लेट फॉर्म पर उपलब्ध है। आईआरएडी ऐप का प्रयोग कैसे किया जाये इसके प्रशिक्षण के लिए राज्यों में कार्यक्रम भी आयोजित किए जा रहे हैं।

पुलिस ,स्वास्थ्य व अन्य विभाग कर सकेंगे आकड़ो का इस्तेमाल।

यातायात निदेशालय ने बताया कि सड़क दुर्घटनाग्रस्त होने वाले व्यक्ति के बारे में पूरी सूचना दर्ज करने के अलावा दुर्घटना के स्थान, वजह और दुर्घटनाग्रस्त वाहनों का भी पूरा ब्योरा दर्ज किया जाएगा। इससे भविष्य में दुर्घटना की दृष्टि से हॉट स्पॉट भी चिह्नित किए जा सकेंगे। साथ ही सड़क के बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए उपचारात्मक उपायों का पता लगाने में भी मदद मिलेगी। आंकड़ों का इस्तेमाल पुलिस के अलावा स्वास्थ्य और अन्य संबंधित विभाग भी कर सकेंगे।

khabar khalifa

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *