देश के ऐसे दिग्गज नेता जिनका जन्मदिन आता है 4 साल में केवल एक बार , करते थे स्वमूत्रपान।

देश के ऐसे दिग्गज नेता जिनका जन्मदिन आता है 4 साल में केवल एक बार , करते थे स्वमूत्रपान।
khabar khalifa

चार साल में एक बार मनाया जाता है जिनका जन्मदिन ,करते थे स्वमूत्रपान ,पहली बार गैर कांग्रेसी सरकार में बने थे प्रधानमंत्री , जी हाँ हम बात कर रहे हैं मोरारजी देसाई की जिनका जन्म 29 फ़रवरी 1896 को हुआ और निधन 10 अप्रैल, 1995 को हुआ यानी वो 99 सालों तक जिंदा रहे। वो भारत के चौथे प्रधानमंत्री थे ,81 वर्ष की आयु में वह प्रधानमंत्री बने थे, हालांकि इससे पहले भी उन्होंने नेहरू के निधन के बाद कई बार प्रधानमंत्री बनने की कोशिश की लेकिन असफल रहे। अगर बात करें देसाई के जन्मदिन की तो इस बार नहीं आया।क्योंकि इस बार फरवरी 29 के बजाय 28 की रही। वो देश के अकेले ऐसे दिग्गज नेता रहे, जिनका जन्मदिन चार साल में केवल एक बार ही आता था। देश में 1977 जब पहली बार गैर कांग्रेसी सरकार बनी तो वो उसके प्रधानमंत्री थे। हालांकि वो ज्यादा समय तक पद पर नहीं रह पाए और सरकार गिर गई मोरारजी भाई की एक बात जो हमेशा चर्चा में रही, वो उनका स्वमूत्रपान था,जिसे वो खुद बताते थे।

कांग्रेस सरकारों को कर दिया था भंग।

प्रधानमंत्री बनते ही उन्होंने देश के नौ राज्यों में कांग्रेस के शासन वाली सरकारों को भंग कर दिया गया। राज्यों में नए चुनाव कराये जाने की घोषणा की ,उनके इस कदम की काफी आलोचना भी हुई ,हालांकि मोरारजी के शासन के दौरान देश में लगातार अव्यवस्थाएं देखने को मिलीं। वास्तव में जनता पार्टी ऐसी खिचड़ी सरकार थी, जिसमें अलग विचारधाराओं वाले लोग मंत्री थे, जो अपने अपने तरीके से काम कर रहे थे न कि सरकार के अनुसार।

नींद से समझौता नहीं करते थे देसाई।

देसाई जी को रात में जगाना पसंद नहीं था, प्रधानमंत्री रहते हुए भी यही प्रक्रिया जारी रही। वह 100 साल जीना चाहते थे लेकिन इनकी मृत्यु 99 वर्ष और मोरारजी अकेले ऐसे भारतीय प्रधानमंत्री हैं जिन्हें भारत सरकार की ओर से ‘भारत रत्न’ तथा पाकिस्तान की ओर से ‘तहरीक़-ए-पाकिस्तान’ का सर्वश्रेष्ठ नागरिक सम्मान प्राप्त हुआ।

khabar khalifa

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *