Ranjit Bacchan की दिनदहाड़े हत्या से दहला लखनऊ

Ranjit Bacchan की दिनदहाड़े हत्या से दहला लखनऊ
khabar khalifa

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के सबसे पॉश इलाके हजरतगंज में हिंदू महासभा(Hindu Mahasabha) के अध्यक्ष रंजीत बच्चन (Ranjit Bacchan) की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई। बच्चन रविवार सुबह अपने मौसेरे भाई आदित्य श्रीवास्तव के साथ मॉर्निंग वॉक पर निकले थे। इसी दौरान बाइक एक हमलावर ने उनके सिर पर गोली मार दी और घटना स्थल से फरार हो गया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। पुलिस को वो सीसीटीवी फुटेज भी मिल गया है जिसमें संदिग्‍ध नजर आ रहा है। पुलिस ने फोटो और वीडियो को सार्वजनिक कर दिया है ताकि आरोपी को पकड़ने में मदद और जानकारी मिल सके। इस बीच रंजीत बच्‍चन(Ranjit Bacchan) की पत्‍नी कालिंदी का भी बयान सामने आया है। कालिंदी ने कहा है कि उनके पति रंजीत को काफी दिनों से जान से मारने की धमकियां मिल रही थीं।

हिंदुत्व को कमजोर करने के की गई रंजीत की हत्‍या

कालिंदी ने बताया कि हिंदुत्‍व को कमजोर करने के लिए उनके पति रंजीत की हत्‍या की गई है। उन्‍होंने आरोप लगाया कि इसी के चलते हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्‍या की गई थी। कालिंदी ने बताया कि रविवार को रंजीत बच्‍चन(Ranjit Bacchan) का जन्‍मदिन था और सुबह हवन करने के बाद वे कुछ लोगों से मिलने निकले थे। दिन में उन्हें नागरिकता कानून का लेकर एक रैली को संबोधित करना था। कालिंदी ने यूपी कानून व्‍यवस्‍था पर भी सवाल उठाए। उन्‍होंने कहा कि मोदीजी, योगीजी कैसे हिंदुत्‍व की रक्षा करेंगे।

रंजीत कहा करते थे- मोदी-योगी शेर हैं, डर कैसा

कालिंदी ने बताया कि रंजीत(Ranjit Bacchan) हमेशा कहा करते थे ‘मोदी शेर है, योगी शेर है’, उनके शासन में हिंदू को डरने की जरूरत नहीं। कालिंदी ने बताया कि इसी के चलते रंजीत ने मिल रही धमकियों के लिए पुलिस में शिकायत नहीं दर्ज करवायी थी और उनके साथ ऐसा हुआ। कालिंदी ने कहा हमने कुछ साल पहले अपना बच्चा खो दिया था और अब, मुझे एक और असहनीय पीड़ा हुई है।” बच्चन की पत्नी ने कहा कि इस नृशंस हत्या के अपराधियों को जल्द गिरफ्तार किया जाना चाहिए और उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।

कालिंदी ने सीएम योगी से की ये मांग

रंजीत बच्चन(Ranjit Bacchan) की पत्नी कालिंदी निर्मल शर्मा ने योगी सरकार से 50 लाख रुपये सहित कई मांगे रखी हैं। कालिंदी निर्मल शर्मा ने कहा कि मेरे पास रहने के लिए कोई घर नहीं है। सरकार मेरे लिए एक आवास की व्यवस्था व सरकारी नौकरी का इंतजाम करवा दे। उन्होंने असलहे को भी रिन्यू करने की मांग रखी। इसके पहले हजरतगंज स्थित आवास पर जब रणजीत बच्चन का शव लाया गया तो वह बिलख पड़ी और मीडिया से कहा कि मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से यही कहना चाहती हूं कि हिंदुत्व का आपका एक सिपाही चला गया है। उसे कफन में एक भगवा कपड़ा दे दीजिए। मैं समाज सेवा करती थी और जो भी मिलता था उसे समाज में लगा देती थी। उन्होंने कहा कि हम लोग मुख्यमंत्री योगी की कोई खिलाफत नहीं करते थे। हिंदुओं को जगाते थे सोशल काम करते थे। घरों से कपड़े इकट्ठा कर गरीब बच्चों को देते थे यही हमारा काम था। कहा कि मैं चाहती हूं कि मेरा असलहा सरकार रिन्यूअल करवा दे। मेरे रहने की कोई जगह उपलब्ध करवा दें। मेरे रोजगार की व्यवस्था करने के साथ ही मेरी आर्थिक मदद कर दें। मेरे पास कुछ भी पैसा नहीं है। परिजनों ने सरकार से 50 लाख रुपये मुआवजा, सरकारी नौकरी और आवास समेत कई मांगे रखी।

khabar khalifa
editor

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *