Priyanka Gandhi का लखनऊ में कटा चालान

Priyanka Gandhi का लखनऊ में कटा चालान
khabar khalifa

लखनऊ: गत शनिवार को कांग्रेस (Congress) महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi) ने लखनऊ पुलिस पर बदसलूकी का आरोप लगाया था. अब सीआरपीएफ ने इस मामले में अपनी रिपोर्ट सौंप दी है. रिपोर्ट में प्रियंका गांधी(Priyanka Gandhi) पर ही सुरक्षा नियमों की अनदेखी का आरोप लगाया है. सीआरपीएफ के आईजी (इंटेलिजेंस) पीके सिंह ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि प्रियंका की सुरक्षा में कोई चूक नहीं हूई थी, बल्कि उन्होंने बिना बताए तय कार्यक्रम के विपरीत अपने फ्लीट का रूट बदल लिया था. इतना ही नहीं उन्होंने बुलेटप्रूफ गाड़ी का इस्तेमाल भी नहीं किया, जो नियमों की अनदेखी है. सीआरपीएफ ने प्रियंका गांधी को नियमों का पालन करने की सलाह दी है. रिपोर्ट में सीआरपीएफ ने कहा है कि 28 दिसंबर को लखनऊ पुलिस और प्रियंका गांधी के बीच हुए टकराव के दौरान सुरक्षा नियमों को तोड़ा गया. Priyanka Gandhi ने बिना किसी सूचना के यात्राएं कीं. इस वजह से एडवांस सिक्योरिटी के संबंध में उनसे संपर्क नहीं किया जा सका. सीआरपीएफ द्वारा प्रियंका के खतरे को देखते हुए उचित सुरक्षा मुहैया करवाई गई थी, इसके बावजूद सुरक्षा नियमों की अनदेखी हुई. ऐसे में प्रियंका गांधी को सलाह दी जाती है कि भविष्य में सुरक्षा नियमों का पालन किया जाए. दूसरी तरफ, लखनऊ ट्रैफिक पुलिस ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को स्कूटी से ले जाने वाले कांग्रेस नेता की स्कूटी का 6300 रुपये का चालान काट दिया है. दरअसल, कांग्रेस विधायक धीरज गुर्जर की स्कूटी पर सवार होकर प्रियंका गांधी शनिवार शाम को पूर्व आईपीएस एसआर दारापुरी के घर जा रही थीं.

पुलिस ने रोक दिया था प्रियंका गांधी(Priyanka Gandhi) का काफिला

Priyanka Gandhi's chaalan in Lucknow
Priyanka Gandhi’s chaalan in Lucknow

प्रियंका गांधी(Priyanka Gandhi) शनिवार को पूर्व आईपीएस अधिकारी एसआर दारापुरी के परिवार के सदस्यों से मिलने जा रही थीं तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया था. पुलिस द्वारा रोके जाने पर प्रियंका गांधी ने मंजिल पर पहुंचने के लिए स्कूटी पर बैठकर यात्रा की थी. इसके बाद कुछ दूर पैदल चलीं और पूर्व अधिकारी के घर पहुंच गईं. नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हाल में हुई हिंसा के मामले में भारतीय पुलिस सेवा के पूर्व अधिकारी एसआर दारापुरी को गिरफ्तार किया गया है. प्रियंका गांधी ने पुलिस पर शनिवार को गंभीर आरोप लगाया था कि सीएए के खिलाफ हाल में हुई हिंसा के मामले में गिरफ्तार किए गए पूर्व आईपीएस अफसर के घर जाते वक्त उन्हें रोकने की कोशिश कर रही है. उन्‍होंने पुलिस पर गला दबाकर गिराने का भी आरोप लगाया था. हालांकि, पुलिस ने इन आरोपों को खरिज किया था

khabar khalifa
editor

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *