पीएम ने Omar Abdullahपर निशाना साधते हुए ‘फेकिंग न्यूज’ दी

पीएम ने Omar Abdullahपर निशाना साधते हुए ‘फेकिंग न्यूज’ दी
khabar khalifa

Delhi: 6 फरवरी, 2020 को लोकसभा राष्ट्रपति के भाषण के बाद धन्यवाद-प्रस्ताव में सदन को सम्भोधित करते हुए, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने आर्टिकल 370 के हटाने पर उमर अब्दुल्ला(Omar Abdullah) के एक बयानका हवाला देते हुए कहा के वे यानि ओमर अब्दुल्लाह (Omar Abdullah) कहते हैं कि “आर्टिकल 370 का हटाया जाना एक ऐसा भूकंप लाएगा जो कश्मीर को भारत से अलग कर देगा”। पर प्रधानमंत्री का यह वक्तव्य तथ्यात्मक रूप से गलत पाया गया।

जी हाँ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओमर(Omar Abdullah) के नाम से जो कहा है वो सच नहीं है बल्कि ‘फ़ेकिंग न्यूज़ ‘ नाम की व्यंगपूर्ण वेबसाइट का है। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्रियों, महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला(Omar Abdullah) को गृह मंत्रालय द्वारा सार्वजनिक सुरक्षा अधिनियम (पीएसए) के तहत हिरासत में लिया गया है। मोदी सरकार द्वारा अगस्त 2019 में अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बाद दोनों दिग्गज नेताओं को नजरबंद कर दिया गया था। देश भर से इनके लिए उठ रही रिहाई की माँग के खिलाफ उनकी गिरफ़्तारी का बचाव करते हुए पीएम मोदी ने यह बयान दिया। संसद में पीएम मोदी ने कहा कि महबूबा मुफ्ती, उमर अब्दुल्ला(Omar Abdullah) और फारूक अब्दुल्ला ने निरस्त होने से पहले भड़काऊ भाषण दिया था।

फ़ेकिंग न्यूज़ के जिस आर्टिकल का उल्लेख प्रधानमंत्री में किया वह दरअसल 28 मई 2014 में प्रकाशित हुआ था। जिसमे उमर अब्दुल्ला(Omar Abdullah) के बयान पर चुटकी ली गयी थी। फ़ेकिंग न्यूज़ ‘नेटवर्क18’ न्यूज़ एक हास्य और व्यंग्य वेबसाइट है। इसपर डिस्क्लेमर दिया गया है कि “इस वेबसाइट की सामग्री कल्पना का काम है। पाठकों को सलाह दी जाती है कि वे फ़ेकिंग न्यूज़ की” समाचार रिपोर्टों “को वास्तविक और सत्य न मानें। आपको बता दें यह ऐसा पहला मौका नहीं है जब प्रधानमंत्री के द्वारा दिया हुआ बयान तथ्यात्मक रूप से गलत पाया हो। इससे पहले भी पीएम मोदी कई चुनावी रैल्लीयों में इस तरह के बयान दे चुके हैं।

khabar khalifa
editor

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *