UP के 35 जिलों में नालों की सफाई में रोबट देंगे सफाई मित्रों का साथ।

UP के 35 जिलों में नालों की सफाई में रोबट देंगे सफाई मित्रों का साथ।
khabar khalifa

प्रदेश सरकार की एक नई पहल यूपी में लागू होने जा रही है। इस पहल का मुख्य उद्देश्य सफाईकर्मियों को राहत पहुँचाना है। प्रदेश के 35 से ज्यादा जिलों में जल्द ही सफाई कर्मियों को राहत देते हुए ‘वन सिटी वन आपरेटर’ योजना को लागू किया जाएगा, इसके तहत कई आसपास के जिलों को जोन बनाकर उनमें सीवर की सफाई व एसटीपी के रखरखाव आदि के लिए एक ही आपरेटर तैनात किया जाएगा, इन आपरेटरों के जरिये गहरे सीवर और नालों में रोबोट व हाईड्रोलिक मशीनों के जरिए सफाई की जाएगी,सफाई के दौरान जहरीली गैस से सफाई मित्रों की होने होने वाली मृत्यु पर भी लगाम लगेगी।

इन जिलों में शुरू हुआ कार्य।

प्रदेश के नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने बताया कि अभी प्रदेश के 11 जिलों लखनऊ, आगरा, गाजियाबाद जोन में गाजियाबाद, बिजनौर, मेरठ, रामपुर, मुजफ्फरनगर व सहारनपुर के अलावा गोरखपुर, अयोध्या व सुलतानपुर को गोरेखपुर जोन में रखते हुए ‘रोबोटिक तकनीक’ के जरिये सीवर की सफाई शुरू के जा रही है।जल्द ही प्रदेश के करीब 35 जिलों में और विस्तार किया जाएगा, प्रयागराज, कौशांबी बरेली, मुरादाबाद व शाहजहांपुर आदि सभी जिलों में एक आपरेटर का चयन किया जाएगा, इस आपरेटर को सीवर की सफाई के साथ ही एसटीपी का पूरा ध्यान रखा जायेगा।

कर्मचारियों को दी जाएगी ट्रेनिंग।

श्री टंडन ने आगे सफाई मित्रों के प्रति चिंता व्यक्त करते हुआ कहा सीवर व मेनहोल की सफाई में अक्सर सफाई मित्रों की जहरीली गैस के कारण मौत हो जाती है। ऐसे में यह बैंडिकूट रोबोट ऐसी जगह पर आसानी से चला जाता है,इतना ही नहीं यह पत्थर के समान जम चुकी सिल्ट की भी सफाई आसानी से कर देता है,सफाई मित्रों के रोजगार में कोई कमी न आने को लेकर उन्होंने साफ कहाकि ही इस काम में कर्मचरियों को लगाया जाएगा,जिसके लिए उन्हें ट्रेनिंग दी जाएगी। उन्होंने कहा कि वैसे भी हाथ से सफाई करने पर प्रतिबंध है और ऐसा कराने वाले को दो साल की सज़ा और दो लाख रुपये तक का जुर्माना लगाए जाने का प्रावधान है।

khabar khalifa

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *