डोनाल्ड ट्रम्प(Donald Trump) ने दी उत्तर कोरिया को धमकी

डोनाल्ड ट्रम्प(Donald Trump) ने दी उत्तर कोरिया को धमकी
khabar khalifa

नई दिल्ली: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप(Donald Trump) और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग की बातों में अब तल्खियां नजर आ रही हैं। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग को चेतावनी दी है कि अगर वो दुश्मन की तरह कार्रवाई करेंगे तो वह ‘सब कुछ’ खो देंगे।

ट्रम्प ने ट्वीट पर बोला किम जोंग उन पर हमला

Donald trump Threatens North Korea
Donald trump Threatens North Korea

बता दें कि यह बयान उत्तर कोरिया द्वारा उसके बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रम से जुड़े एक परीक्षण के तुरंत बाद आया है। एक समाचार एजेंसी ने ट्रंप के रविवार के ट्वीट के हवाले से कहा बताया कि ‘किम जोंग उन’ बहुत स्मार्ट हैं और उनके पास खोने के लिए बहुत कुछ है। अगर वे शत्रुतापूर्ण तरीके से कार्य करते हैं तो हर चीज गंवा देंगे।” ट्रंप(Donald Trump) ने संयुक्त घोषणा पत्र का जिक्र किया कि जिसमें दोनों नेताओं ने कोरियाई प्रायद्वीप के लिए पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए काम करने का वादा किया था। ट्रंप ने बताया कि “उन्होंने सिंगापुर में मेरे साथ ठोस परमाणु निरस्त्रीकरण पर हस्ताक्षर किए थे।”

वादे के मुताबिक परमाणु निरस्त्रीकरण करें

Donald trump Threatens North Korea
Donald trump Threatens North Korea

उन्होंने कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति के साथ वह अपने विशेष संबंध को निर्थक नहीं करना चाहते। ट्रंप ने ये भी कहा कि किम जोंग-उन के नेतृत्व में उत्तर कोरिया के पास जबरदस्त आर्थिक संभावनाएं हैं, लेकिन इसे वादे के मुताबिक परमाणु निरस्त्रीकरण करना चाहिए। नाटो, चीन, रूस, जापान और पूरी दुनिया इस मुद्दे पर एकजुट है।” उत्तर कोरिया की सरकारी न्यूज एजेंसी के एक संक्षिप्त बयान के अनुसार, उत्तर कोरिया ने रविवार को सोहे में अपने सैटेलाइट लॉन्च केंद्र की घोषणा की। यह उत्तर कोरिया के मिसाइल कार्यक्रम से जुड़ा है।

किम जोंग ने डोनाल्ड ट्रम्प(Donald Trump) को बोला डरपोक बूढ़ा

Donald trump Threatens North Korea
Donald trump Threatens North Korea

हालांकि ट्रंप के ट्वीट पर धमकी दिए जाने के बाद उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने भी उन्हें जवाब देते हुए विचारहीन और डरपोक बूढ़ा आदमी करार दे दिया। वियतनाम में ट्रम्प और किम जोंग उन के बीच फरवरी में हुई शिखर वार्ता के बाद परमाणु वार्ता तब टूट गई जब अमेरिकी पक्ष ने अपनी परमाणु क्षमताओं के आंशिक आत्मसमर्पण के बदले में व्यापक प्रतिबंधों से राहत के लिए उत्तर कोरियाई मांगों को खारिज कर दिया था। उत्तर कोरिया के एक वरिष्ठ अधिकारी, पूर्व परमाणु वार्ताकार किम योंग चोल ने एक बयान में कहा कि उनका देश अमेरिकी दबाव में नहीं आएगा क्योंकि उसके पास खोने के लिए कुछ नहीं है। उन्होंने कहा कि ट्रम्प प्रशासन परमाणु वार्ता के निस्तारण के लिए और समय सीमा चाहता हैं जो किम जोंग उन के दिए हुए समय के बाद संभव नहीं है।

khabar khalifa
editor

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *