हिंसा के बाद पुलिस ने लिया एक्शन ,बंद किये रास्ते, पानी और बिजली की सप्लाई भी बंद।

हिंसा के बाद पुलिस ने लिया एक्शन ,बंद किये रास्ते, पानी और बिजली की सप्लाई भी बंद।
khabar khalifa

किसानों की उग्रवादी हरकत के बाद दिल्ली पुलिस एक्शन में आ गयी है ,सिंघु बॉर्डर पर इकलौते पैदल जाने वाले रास्ते के अलावा आसपास के गावों की गालियों को भी बंद कर दिया गया है ,दिल्ली पुलिस ने भारी संख्या में बैरिकेड्स लगा दिए है, आसपास की सभी गलियां और दुकानें बंद कराई गई हैं. बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस के जवान लगातार तैनात कर दिए गए है। दिल्ली पुलिस ने किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसा को लेकर योगेंद्र यादव और बलबीर सिंह राजेवाल समेत 20 किसान नेताओं को नोटिस जारी किया है।

किसानों को नोटिस।

एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने इन किसान नेताओं से तीन दिन में अपना जवाब देने के लिए कहा है, किसान नेताओं को यह नोटिस इसलिए जारी किया गया है क्योंकि उन्होंने मंगलवार को ट्रैक्टर परेड के लिए तय दिशा-निर्देशों का पालन नहीं किया, दिल्ली पुलिस की इस कार्रवाई से एक दिन पहले बुधवार को दिल्ली पुलिस आयुक्त एस एन श्रीवास्तव ने आरोप लगाया था कि 26 जनवरी की हिंसा में किसान नेता शामिल थे और उन्होंने चेतावनी दी थी कि किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा ।

हिंसा में 394 सुरक्षाकर्मी घायल।

दिल्ली पुलिस ने राजपथ पर समारोह समाप्त होने के बाद तय रास्ते से ट्रैक्टर परेड निकालने की अनुमति दी थी, लेकिन हजारों की संख्या में किसान समय से पहले विभिन्न सीमाओं पर लगे अवरोधकों को तोड़ते हुए दिल्ली में प्रवेश कर गए ,कई जगह पुलिस के साथ उनकी झड़प हुई और पुलिस को लाठी चार्ज और आंसू गैस के गोलों का सहारा लेना पड़ा, प्रदर्शनकारी लाल किले में भी घुस गए और वहां ध्वज स्तंभ पर धार्मिक झंडा लगा दिया था, दिल्ली पुलिस ने ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसा और तोड़-फोड़ की घटना के संबंध में 25 आपराधिक मामले दर्ज किए हैं. इस हिंसा में दिल्ली पुलिस के 394 कर्मी घायल हुए हैं।

khabar khalifa

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *