26 जनवरी के दिन भयानक हिंसा के बाद , लाल किले पर कभी न भूलने वाले मंजर |

26 जनवरी के दिन भयानक हिंसा के बाद , लाल किले पर कभी न भूलने वाले मंजर |
khabar khalifa

26 जनवरी के दिन किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हजारों प्रदर्शनकारी लाल किला पहुंचे थे और उन्होंने वहां बहुत तोड़फोड़ की और झंडा भी फहराया। इस पूरे घटनाक्रम के बाद जहां लाल किले की सुरक्षा में अतिरिक्त बढ़ोतरी कर दी गई है, वहीं बुधवार सुबह केंद्रीय संस्कृति मंत्री प्रह्लाद पटेल यहां पहुंचे हैं। केंद्रीय मंत्री यहां पहुंचकर कल हुए तोड़फोड़ का जायजा ले रहे हैं। उनके साथ पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (एएसआई) के सदस्य भी हैं जो लाल किले की देखरेख करते हैं। यहां उपद्रवियों ने बहुत तोड़फोड़ मचाई है जिसकी तस्वीरें भी सामने आ रही हैं..

26 जनवरी के दिन भयानक हिंसा के बाद , लाल किले पर कभी न भूलने वाले मंजर |

26 जनवरी के दिन हजारों प्रदर्शनकारी लाल किले में घुस आए और उन्होंने सबसे ज्यादा तोड़फोड़  लाल किले के टिकट काउंटर में किया। इन सब तोड़फोड़ के बाद लाल किले की सुरक्षा व्यवस्था भी बढ़ा दी गई है। लाल किले पर पहले ज्यादा सुरक्षा बल तैनात हैं। यहां पैरामिलिट्री की फोर्स भी तैनात की गई है क्योंकि किसान अब भी दिल्ली की सीमाओं पर डटे हैं और उन्होंने संसद मार्च का भी एलान किया है। इसी को लेकर एहतियात के तौर लाल किले समेत अन्य स्थानों पर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है।

26 जनवरी के दिन भयानक हिंसा के बाद , लाल किले पर कभी न भूलने वाले मंजर |

कैमरों से लेकर सभी तरह के उपकरण को तोड़ा गया। लाल किले पर प्रदर्शनकारियों ने न केवल झंडा फहराया, बल्कि मंच पर काबिज हुए, नारा भी लगाया। लाल किले में प्रवेश के दौरान किले और प्रवेश स्थल के बीच में एक खाईनुमा जगह है। हजारों की संख्या में जब प्रदर्शनकारी जब यहां पहुंचे तो पुलिसवालोें को अपनी जान बचाने के लिए उस खाईनुमा जगह में कूदकर अपनी जान बचानी पड़ी।

लाल किले के टिकट काउंटर के अंदर घुसकर कुर्सियों से लेकर अलमारियां तक तोड़ी गईं। दिल्ली में आईटीओ, नांगलोई समेत लाल किले व अन्य जगहों पर काफी हिंसा हुई जिसमें 300 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। अकेले लाल किले पर हुई हिंसा में 100 से ज्यादा पुलिसवाले घायल हुए।

26 जनवरी के दिन भयानक हिंसा के बाद , लाल किले पर कभी न भूलने वाले मंजर |
khabar khalifa
editor

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *