Primary Menu

Primary Menu

July 17, 2019
Time + Temperature Lucknow 09:24 AM +22°C

दिल्ली के सामने चेन्नई :जोरदार टक्कर होने की सम्भावना

युवा खिलाडियों से भरी दिल्ली , शुक्रवार को होने वाले दूसरे क्वालीफायर मैच में , चेन्नई को हराने के लिए दिल्ली को कड़ी मशक्कत करनी होगी। जिसके बाद ही उसका IPL के फाइनल में पहुंचने का रास्ता साफ होगा।अभी हाल ही में चेन्नई ने दिल्ली को चेपॉक पर 80 रनों से करारी शिकस्त दी थी। लीग तालिका में शीर्ष दो स्थान हासिल करने से दिल्ली को रोक दिया था। और एक बार फिर धोनी पहाड़ बनकर दिल्ली के सामने खड़े है।

दिल्ली के बल्लेबाजों की लय बरकरार

जिस तरीके से बुधवार को एलिमिनेटर में अंतिम ओवरों में दिल्ली ने जीत दर्ज की है। उस जीत में ऋषभ पंत के अहम योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। इससे टीम का और पंत का मनोबल बढ़ा होगा। पृथ्वी साव भी इस समय काफी लय में है। साव ने भी 56 रन बनाये थे। दिल्ली की टीम यहां पहले ही एक मैच (एलिमिनेटर) खेल चुकी ह। तो उसे यहां की परिस्थितियों को बेहतर तरीके से जानने का फायदा मिलेगा। उसके तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट और इशांत शर्मा ने कागिसो रबाडा की अनुपस्थिति में अच्छा प्रदर्शन किया है। और कीमो पॉल ने उनका अच्छा साथ निभाया है। और तीन विकेट हासिल किया था। स्पिनर अमित मिश्रा भी अच्छा प्रदर्शन कर रहे है।

और पढ़े -सेना को मिली बड़ी कामयाबी (आईएसजेके) के कमांडर इशफाक अहमद को किया ढेर

2012 में दिल्ली को मिली थी हार

वर्ष 2012 में दिल्ली की टीम का सामना चेन्नई के साथ क्वालीफायर दो में हुआ था। इस वर्ष चेन्नई के कप्तान धौनी थे तो दिल्ली की कप्तानी सहवाग के हाथों में थी। इस मैच में चेन्नई ने मुरली विजय की 113 रन की पारी के दम पर 20 ओवर में पांच विकेट पर 222 रन बनाए थे। इसके जवाब में दिल्ली की टीम 16.5 ओवर में 136 रन पर ऑल आउट हो गई और उसे 86 रन सेे मैच गंवाना पड़ा था। खैर ये तो इतिहास की बात है, लेकिन अब मामला जरा अलग है। टीमें बदल गई हैं, दिल्ली के कप्तान श्रेयस हैं और टीम युवा खिलाड़ियों से भरी हुई है। ऐसे में इस बार क्वालीफायर दो में कुछ भी हो सकता है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Leave a Reply

en_USEnglish
en_USEnglish