शबनम केस : शबनम द्वारा राज्यपाल ,आनंदीबेन से ,दूसरी बार की गयी माफ़ी की मांग।

शबनम केस : शबनम द्वारा राज्यपाल ,आनंदीबेन से ,दूसरी बार की गयी माफ़ी की मांग।
khabar khalifa

अमरोहा जिले के बावनखेड़ी में अपने ही परिवार के सात सदस्यों को प्रेमी सलीम के साथ मिलकर मौत के घाट उतारने वाली शबनम ने राज्यपाल
के नाम दूसरी बार माफ़ी की मांग की है। । राज्यपाल तक भेजने के उम्मीद में यह अर्जी रामपुर के जेल अधीक्षक को सौंपी गई है।
गुरुवार को शबनम के दो अधिवक्ताओं ने रामपुर के जेल अधीक्षक से मुलाकात कर उनको राज्यपाल को संबोधित दया याचिका रूपी अर्जी सौंपी है। इसमें उसकी फांसी की सजा माफ किए जाने की मांग की गई है। जेल अधीक्षक पीडी सलोनिया ने बताया कि दो अधिवक्ता आए थे, जिन्होंने प्रार्थना पत्र दिया है। 
प्रार्थना पत्र राज्यपाल को प्रेषित किया जा रहा है। जेल अधीक्षक ने बताया कि राज्यपाल से दया की उम्मीद का शबनम का यह दूसरा प्रयास है। पूर्व में उसकी दया याचिका राज्यपाल के स्तर से खारिज हो चुकी है।

शबनम केस : शबनम द्वारा राजयपाल आनंदीबेन से ,दूसरी बार की गयी माफ़ी की मांग।

जेलर आरके वर्मा का कहना है कि डेथ वारंट जारी होते ही शबनम को मथुरा जेल भेज दिया जाएगा। साथ ही उन्होंने बताया कि अमरोहा के जिला जज से डेथ वारंट मांगा गया है। जैसे ही प्राप्त होगा, वैसे ही शबनम को मथुरा जेल भेज दिया जाएगा। यूपी में महिला को फांसी की व्यवस्था मथुरा में ही है। उन्होंने बताया कि फिलहाल जेल में शबनम का व्यवहार सामान्य है। शबनम को रामपुर जेल की महिला बैरिक नंबर 14 में रखा गया है।
प्रदेश का एकमात्र महिला फांसी घर मथुरा में ही है। जिसका उल्लेख जेल मैनुअल में है, वरना अधिकारियों के मुताबिक अभी यह फांसीघर पूरा तक नहीं है। फांसीघर के नाम पर केवल एक छोटा सा स्ट्रक्चर है। जिसमें अभी तक किसी महिला को फांसी हीं नहीं दी गई है। जिसके चलते फांसी घर में बहुत सी कमियां हैं।

शबनम केस : शबनम द्वारा राजयपाल आनंदीबेन से ,दूसरी बार की गयी माफ़ी की मांग।
khabar khalifa
editor

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *