विधानसभा बजट सत्र शुरू होते ही विपक्ष ने किया हंगामा।

विधानसभा बजट सत्र शुरू होते ही विपक्ष ने किया हंगामा।
khabar khalifa

हिमाचल प्रदेश में विधानसभा का बजट सत्र शुरू होते ही शुक्रवार को विपक्ष ने हंगामा कर दिया। राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने जैसे ही अभिभाषण पढ़ना शुरू किया। कांग्रेस विधायकों ने सदन में नारेबाजी शुरू कर दी। राज्यपाल ने अभिभाषण के 14 प्वाइंट पढ़े और 11:16 बजे अभिभाषण को खत्म कर दिया। इस बीच नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने महंगाई का सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि अभिभाषण झूठ का पुलिंदा है।

  विधानसभा बजट सत्र शुरू होते ही विपक्ष ने किया हंगामा।

हंसराज और कांग्रेस विधायकों के बीच हुई धक्कामुकी।

बजट सत्र में पहली बार ऐसा हुआ है कि अभिभाषण के दौरान विपक्ष ने हंगामा किया। राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय राजभवन जाने लगे। इस दौरान विधानसभा के काउंसिल चैंबर गेट पर राज्यपाल की गाड़ी के आगे खड़े होकर कांग्रेस विधायक नारेबाजी करने लगे। मामला इतना गरमा गया कि विधानसभा उपाध्यक्ष
  पहले सदन 11.16 मिनट पर सोमवार 2 बजे तक के लिए स्थगित हो गया था लेकिन फिर अचानक दोबारा सत्र बुलाया गया है। नियम के प्रावधान के तहत महत्वपूर्ण विषय पर अध्यक्ष फिर से सदन बुला सकता है। नियम 346 के तहत फिर सदन बुलाया है। हंगामा करने वाले विधायकों को निलंबित करने की तैयारी की जा रही है। विधानसभा अध्यक्ष विपिन परमार ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री और सहयोगियों ने राज्यपाल का रास्ता रोका और उन पर अभिभाषण की प्रतियां फेंकी गईं।
हिमाचल प्रदेश शर्मसार हुआ है। विपिन परमार ने कहा कि विपक्ष ने परंपराओं को तोड़ा है और राज्यपाल का अपमान किया है। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि आज का दिन शर्म का दिन बन गया है। सदन के अंदर व बाहर पक्ष पर नही संविधान पर हमला किया गया है।
विपक्ष ने राज्यपाल का रास्ता रोका और उन पर शारीरिक हमला किया। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने सदन में प्रस्ताव दिया कि राज्यपाल का रास्ता रोकने वाले कांग्रेस विधायकों मुकेश अग्निहोत्री, हर्षवर्धन चौहान, सतपाल सिंह रायजादा, सुंदर सिंह ठाकुर और विनय कुमार को निलंबित किया जाए।

  विधानसभा बजट सत्र शुरू होते ही विपक्ष ने किया हंगामा।
khabar khalifa
editor

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *