बुलंदशहर :सही कपड़े प्रेस न करने की वजह से एसपी ने क्रूरता से की धोबी की पिटाई।

बुलंदशहर :सही कपड़े प्रेस न करने की वजह से एसपी ने क्रूरता से की धोबी की पिटाई।
khabar khalifa

कानून को जंहा आम जनता का रखवाला कहा जाता है, जनता को इंसाफ और न्याय दिलाने के जाना जाता है। किन्तु कुछ ऐसी घटनाये सामने आ जाती है जिससे कानून से विश्वास ही उठ जाता है। जहाँ एक तरफ डीजीपी अफसरों से बार बार यही कह रहे हैं कि आम जनता से अच्छे से व्यवहार किया जाये, लेकिन कई जगह अफसर डीजीपी के आदेशों को हवा में उड़ा रहे हैं. वही एक नया मामला बुलंदशहर जिले से सा,मने आ रहा है , जहां एसपी क्राइम पर महज कपड़े सही से प्रेस नहीं होने पर धोबी को पीटने का आरोप लगा है. दरअसल, आरोपों के अनुसार एसपी क्राइम ने धोबी को कमरे में बंद कर लिया और जमकर पीटा. पीड़ित धोबी का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है.

एसपी क्राइम बुलंदशहर जिले में तैनात है। जंहा उनपर एक धोबी ने गंभीर आरोप लगाए हैं। धोबी शंकर ने एसएसपी को दिए एक शिकायती पत्र में बताया कि शुक्रवार सवेरे एसपी क्राइम ने उसे अपने आवास पर बुलाया और ड्रेस प्रेस करने के लिए कहा. पीड़ित की मानें तो उसने ड्रेस को प्रेस कर दिया. इसके बाद एसपी क्राइम ने कमीज पर सही ढंग से प्रेस ना किए जाने की बात कही और उसे पीटना शुरू कर दिया. शोर सुनकर एसपी क्राइम के अंगरक्षक और हमराही भी वहां पहुंच गए लेकिन एसपी क्राइम नहीं रुके और अपने अंगरक्षकों के सामने भी पिटाई कर दी. इतना ही नहीं भविष्य में उसे उनके अनुसार काम ना करने पर जान से मारने की धमकी भी दी. इस दौरान धोबी के कान में कई चोटें आई हैं. इससे पहले भी एसपी क्राइम कई बार उसे गलियां दे चुके हैं.

बुलंदशहर :सही कपड़े प्रेस न करने की वजह से एसपी ने क्रूरता से की धोबी की पिटाई।

एसएसपी द्वारा निष्पक्ष करवाई की मांग।

बता दें कि जिले के देवीपुरा प्रथम के रहने वाला शंकर पुलिस लाइन की आरटीसी में धोबी के पद पर तैनात है. शंकर के मुताबिक उसका काम ट्रेनिंग के लिए आने वाले रिक्रूट की वर्दी पर प्रेस करना है. वहीँ दूसरी तरफ एसपी क्राइम का कहना है कि मेरे द्वारा कपड़े प्रेस करने के लिए बुलाया गया था. मारपीट के आरोप गलत हैं. एसएसपी को पूरे मामले की जानकारी देते हुए निष्पक्ष जांच का अनुरोध किया गया है.

khabar khalifa
editor

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *