चमोली आपदा : कई और लोगो के फसे होने की आशंका।

चमोली आपदा :  कई और लोगो के फसे होने की आशंका।
khabar khalifa

ऋषिगंगा में जल प्रलय के बाद तपोवन जल विद्युत परियोजना की निर्माणाधीन सुरंग में फंसे तीन इंजीनियरों समेत 35 कर्मचारियों तक पहुंचने में सुरंग के जरिए भारी मात्रा में आ रहा मलबा बचाव दल के समक्ष बड़ी बाधा बनकर सामने आया है। अभी तक आपदा में 170 लोग लापता हैं। 34 लोगों के शव बरामद कर लिए गए हैं, जिनमें से नौ लोगों की शिनाख्त हो चुकी है। 12 मानव अंग क्षत-विक्षत हालत में मिले हैं। हेलीकॉप्टर से लगातार नीती घाटी के गांवों में राहत सामग्री वितरित की जा रही
तपोवन सुरंग में पांच मिटर तक ड्रिलिंग के बाद अब काम रोक दिया गया है। अंदर गैस बनने के कारण ड्रिलिंग करने में परेशानी हो रही है। जिस कारण फिलहाल काम रोक दिया गया है।

चमोली आपदा :  कई और लोगो के फसे होने की आशंका।
अभी तक आपदा में 170 लोग लापता हैं। 34 लोगों के शव बरामद कर लिए गए हैं, जिनमें से नौ लोगों की शिनाख्त हो चुकी है। नीचे सूची में पढ़ें मृतकों के नाम|

शिनाख्त का समय 72 नहीं 96 घंटे सुरक्षित रखे जाएंगे शव।

चमोली आपदा में बचाव अभियान के दौरान बरामद हो रहे शवों को शिनाख्त के लिए 72 घंटे के स्थान पर 96 घंटे सुरक्षित रखा जाएगा। दूसरे राज्यों के परिजन होने के कारण राज्य सरकार ने पहचानके लिए एक दिन बढ़ाया है। मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने इसकी पुष्टि की है।

चमोली आपदा :  कई और लोगो के फसे होने की आशंका।
khabar khalifa
editor

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *